रेखीये संवेग

रेखीये संवेग   इस लेख में हम जानेंगे कि रेखीय संवेग क्या है  व यह किन – किन भौतिक राशियों पर निर्भर करता है। हम दैनिक जीवन मैं अपने अनुभव से यह जानते हैं की किसी वस्तु का जितना ज्यादा द्रव्यमान होता है, उस में गति की मात्रा भी उतनी ही अधिक होती है। इसी… Continue reading रेखीये संवेग

न्यूटन के नियम (प्रथम नियम)

न्यूटन के नियम (प्रथम नियम)     न्यूटन के नियम (प्रथम नियम) :-  यदि कोई वस्तु विरामावस्था में है, तब वह विरामावस्था में ही रहेगी और यदि एक समान गति की अवस्था में है, तब उसी दिशा में एकसमान गति की अवस्था में रहेगी जब तक कि उस पर कोई बाह्य बल न लगाया जाए। इस नियम… Continue reading न्यूटन के नियम (प्रथम नियम)

न्यूटन के गति के नियम

न्यूटन के गति के नियम   न्यूटन ने गति के तीन नियम दिए, जिनके आधार पर एक कण की गति को आसानी से समझाया जा सकता है। (a) गति का प्रथम नियम  अथवा  जडत्व का नियम (b) गति का द्वितीय नियम (F = ma) (c) गति का त्रितीय नियम अथवा क्रि्या – प्रतिक्रिया नियम

प्रकृति के 4 मूल बल (4 fundamental forces in nature)

  प्रकृति के 4 मूल बल (4 fundamental forces in nature)     प्रकृति के 4 मूल बल :- प्रकृति में देखे गए सभी बल जैसे कि मांसपेशीय बल, तनाव, प्रतिक्रिया, घर्षण, प्रत्यास्थता, भार, विद्युत-चुम्बकीय बल,नाभिकीय बल आदि, केवल 4 मूल बलों के रूप में समझाए जा सकते हैं: – (1) गुरुत्वाकर्षण बल (2) विद्युत-चुम्बकीय… Continue reading प्रकृति के 4 मूल बल (4 fundamental forces in nature)

Fundamental Forces in nature (Gravitational, Electromagnetic, Nuclear and Weak Force)

undamental Forces in nature     Fundamental Forces :- All the forces observed in nature such as muscular force, tension, reaction, friction, elastic, weight, electric, magnetic, nuclear, etc., can be explained in terms of only following four basic forces :- (1) Gravitational Force (2) Electromagnetic Force (3) Nuclear Force (4) Weak Force (1) Gravitational Force The… Continue reading Fundamental Forces in nature (Gravitational, Electromagnetic, Nuclear and Weak Force)

बल के मात्रक

बल के मात्रक     बल के मात्रक :- SI प्रणाली:- न्यूटन ( kg-m/s2 ) CGS प्रणाली:- डाइन ( g-cm/s2 ) न्यूटन व डाइन मे सम्बन्ध:- 1 न्यूटन = 1kg-m/s2 = (1000g-100cm)/s2 = (105) (g-cm)/s2 = 105 डाइन अन्य मात्रक :- किलोग्राम बल :- एक किलोग्राम द्रव्यमान की वस्तु को पृथ्वी जिस बल से अपने… Continue reading बल के मात्रक

Unit of force

Unit of force   Unit of force :- SI System: – Newton ( kg-m/s2 ) CGS System: – dyne ( g-cm/s2 ) Relations between Newton and dyne: – 1 N = 1kg-m/s2 = (1000g-100cm)/s2 = (105) (g-cm)/s2 = 105 dyne Other units: – Kilogram force ( kgf ) : – The force with which the… Continue reading Unit of force

बल की संकल्पना

बल की संकल्पना     बल की संकल्पना :- बल वह कारक है जो स्थिर वस्तु को गतिशील या गतिशील वस्तु की स्थिति में परिवर्तन करता है अथवा ऐसा करने का प्रयास करता है। या दूसरे शब्दों में … बल वह भौतिक राशि है,  जो किसी वस्तु में त्वरण उत्पन्न करे अथवा  त्वरण उत्पन्न करने… Continue reading बल की संकल्पना

Stress in Physics

Stress in Physics Stress in Physics The internal restoring force acting per unit area of cross–section of the deformed body is called stress. Stress = (Internal Restoring force/Area of cross section) = Finternal/A = Fexternal/A SI Unit : Nm–2 Dimensions : [M1 L–1 T–2] Types of stress (Stress in Physics) (a) Longitudinal Stress (b) Volume… Continue reading Stress in Physics